Sunday, May 15, 2016

Cow Dung cleaning for better milk productivity

गोबर के प्रबंध  से गौ को स्वस्थ  रखना 
इमा धियं सप्त शीर्ष्णी पिता न ऋतप्रजातां बृहतीमविन्दत् ।
तुरीयं स्विज्जनयद्विश्वजन्यो ऽयास्य उक्थमिन्द्राय शंसन् ।। ऋ 10.67.1 अथर्व 20-91-1,
(तुरीयं स्विद्‌ जनयद) सूर्य के सात रष्मियों के प्रकाश द्वारा चार पीढ़ी वाले नातियों –सात प्रकार के रोगनाशक तत्व और - को नष्ट करने का प्रबंध किया.
(विज्ञान के अनुसार दही में 7 प्रकार के रोग निरोधक प्रोबायोटिक लेक्टो बेसिलाइ होते हैं. गोबर गोमूत्र में सात प्रकार के कीट नाशक छिपे हैं. उसी प्रकार गोबर में चार पीढ़ी के विनाशकारी कीट भी स्वजन्य होते हैं, (1) गौ का रक्त चूस कर गोबर में अण्डे ,(2)  अण्डे से लार्वा, (3) लार्वा से प्युपा, (4) प्युपा से मक्खी चार रूप ले कर बनती है. इसी को वेद चार पीढ़ी के नाती  विनाश कारी तत्व बताता है, गोबर को 3 दिन  पुराना होने से पहले  काट लगा कर सूर्य के प्रकाश में  सुखा कर इन  अण्डों को नष्ट किया जाना चाहिए . अन्यथा  इन अण्डों से एक विशेष प्रकार की मक्खी पैदा हो जाती है | 
यह गोशाला के आस पास की मक्खी विशेष प्रजाति की होती है जो साधारण मक्खियों से कुछ छोटी होती है.  यदि गोबर को तीन दिन से पहले काट लगा कर धूप में सुखाया न जाए तो यही चार पीढ़ी मे गौ की विनाशकारी मक्खी बनती है.  इसे आधुनिक वैज्ञानिक भाषा में Horn Fly हार्न मक्खी कहते हैं. यह दिन में 30 बार तक गौ पर बैठ कर रक्त चूसती है. इस के कारण गौओं के स्वास्थ्य और दुग्ध उत्पादन पर दुष्प्रभाव होता है. यहां तक कि दुग्ध उत्पादनमें 20% तक की गिरावट आ सकती है.) 
(गर्मी में शरीर को ठंडा रखने के लिए पसीना आता है | हर एक प्राणी के पसीने में उस के शरीर से एक गंध भी आती है | देसी गाय के पसीने में भी एक प्रकार की गंध  होती  है | गाय की  त्वचा में भी पसीने कि - स्वेद की ग्रंथियां होती हैं | गौ की प्रजाति जितने गरम प्रदेश की होती है उस की त्वचा में उतनी ही स्वेद ग्रंथियां अधिक होती हैं | गाय के स्वेद पसीने की गंध से उस पर मक्खी आना पसंद नहीं करती | जिस गाय को जितना अधिक पसीना आता होगा उस पर उसी अनुपात में मक्खी कम आएगी| इस प्रकार देसी गरम प्रदेशकी गाय पर यह गोशाला की विशेषमक्खी कम आती है | परंतु ठंडे प्रदेश की  होल्स्टियन फ्रीज़ियन गाय पर  यह  मक्खी अधिक आएगी | जितनी मक्खी अधिक आएगी उतना ही गाय कष्ट में रहेगी बीमार रहने  लगेगी और दूध का उत्पादन कम हो जाएगा| यह बात भेंस पर भी  लागू होती है |
Horn fly lives by sucking blood from cows. After their feed of blood, next they sit on cowpat. Horn Fly lays eggs in cow pats, where they hatch as maggots; grow in to pupa and from pupa they emerge as Horn Flies. Horn flies develop from the egg to adult stage within 10 to 20 days, and the adults live for about 3 weeks, feeding 20 to 30 times a day on a cow to suck its blood 20 to 30 times a day. Move on to cowpat to lay the eggs after every blood sucking.  If the cow pat is cut up and exposed to sun by spreading, the eggs get destroyed by solar radiations, and no Horn flies are born. Horn flies are known to very adversely affect health of cows and reduce milk yield by as much as 20%
The Cow dung should not be allowed to accumulate in Goshalas.
It should be collected and removed as early as possible and spread out exposed to the sun that will not allow any Horn fly eggs to hatch in to flies.
Alternatively collect all the cow dung and use it to feed the biogas digester. There will be no flies. The biogas is excellent source of fuel energy. Biogas slurry mixed with water is excellent organic fertitigation-irrigation integrated with fertilizers.

5 comments:

pankaj karnwal said...

Nice article thanks for sharing with us.
ctet
ctet application form
ctet exam date
ctet notification
ctet admit card
ctet result
ctet online form
ctet answer key
ctet answer key
ctet
reet
neet result
mp board 10th supplementary result 2016
cbse board 10th supplementary result 2016

Seo Expert said...

This is most famous article posting which provides the great tour arrangements.

Same Day Taj Mahal Tour by Car
Same Day Taj Mahal Tour by Train
One day Agra day trip
Golden Triangle Tour with Varanasi

Rồng Xương said...

Bạn đang có bệnh và mong muốn điều trị? Phòng khám phụ khoa Thiên Hòa chuyên chữa trị các phụ khoa bao gồm các bệnh viêm nhiễm phụ khoa, bệnh cổ tử cung, tử cung, bệnh buồng trứng và vô sinh hiếm muốn. Nếu có nhu câu thăm khám và điều trị bệnh. Hãy liên hệ ngay tới Phòng khám, các chuyên gia sẽ tư vấn và giải đáp mọi thông tin cụ thể.

Seo Expert said...

It provides the excellent trip to get provides the most famous travel programs in India.

Golden Triangle Tour 3 Days
Taj Mahal Tour By Car  
Buddhist Pilgrimage Tour
agra jaipur tour from delhi 3 days
Golden triangle tour 6 days
Golden Triangle Tour 4 Days
Taj mahal tour by train
Golden triangle tour 7 days
Taj mahal Tour Packages

Seo Expert said...

It is very good travel attraction tourist blog.
Same Day Taj Mahal Tour
Delhi Agra Jaipur Tour by Car
One Day Agra Tour By Train
Agra Day Tour By Train
Taj Mahal Tour By Train